इन घरेलू उपाय और योग से 1 महीने में हाई ब्लड प्रेशर को कहिये बाये।

कहीं गुस्से या थोड़ी सी सीढ़ियाँ चढ़ने में आपकी सांस तो नहीं फूलने लगती। या फिर थोड़ी सी टेंशन में ही सीने में घबराहट होने लगती है। अगर ऐसा है तो आप हाइपरटेंशन यानी हाई ब्लड प्रेशर के शिकार हो सकते हैं। अभी भी आपको पता नहीं चला तो कुछ और लक्षण बता देता हूँ। हो सकता है आजकल आपके सिर में दर्द रहता हो, सांस लेने में तकलीफ होती हो, नींद नहीं आती हो या फिर कभी-कभी आपकी नाक से खून आ जाता हो। यदि ऐसा आपके साथ अक्सर होता है तो फिर आप पूरी तरह हाइपरटेंशन की गिरफ्त में आ गये।

हाइपर टेंशन यानी हाई ब्लड प्रेशर, हिन्दी में समझें तो उच्च रक्तचाप। ये ऐसी स्थिति होती है जब हमारी धमनियों में दबाव पड़ने लगता है। दबाव के कारण हृदय को अधिक काम करना पड़ता और लगातार अधिक काम करने से स्ट्रोक जैसी जान लेवा स्थिति पैदा हो सकती है। हृदय का हमेशा सामान्य से ज्यादा काम करने से बीमार होने का खतरा भी बढ़ जाता है। इस समस्या को साइलेंट किलर भी कहा जाता है क्योंकि कई बार इसके लक्षणों का पता नहीं चलता और अचानक व्यक्ति को जान से हाथ धोना पड़ता है।

हाई ब्लड प्रेशर या रक्तचाप बढ़ने के कारण

पहले ये बीमारी उम्रदराज लोगों में होती थी लेकिन अब बच्चों और युवाओं में भी बीमारी अपने पांव पसार रही है और इन सबका कारण अनियमित खान पान ही है। जैसे-जैसे मॉडर्न लाइफस्टाइल को अपनाते जा रहे ऐसी बीमारियों का घर बनते जा रहे हैं। उच्च रक्तचाप के अन्य कारण मोटापा, तनाव व नमक का अधिक सेवन है।

हाई ब्लड प्रेशर या रक्तचाप को सामान्य रखने के घरेलू उपचार

एक बार रक्तचाप की समस्या हो जाने पर व्यक्ति को सारी जिंदगी दवाओं पर गुजारनी होती है। लेकिन कुछ घरेलू नुस्खों जिंदगी भर की दवाओं से छुटकारा मिल सकता है। आईये जानते हैं कुछ ख़ास घरेलू उपाय।

तरबूज के बीज– तरबूज के बीज में कुकुरबोसिटरिन होता है, जो धमनियों को चौड़ा रखता है। जिससे रक्त सामान्य स्थिति में बहता है। तरबूज के बीज को खस के चूर्ण के साथ मिलाकर रोज़ाना सुबह शाम एक चम्मच खाने से बढ़े हुए रक्तचाप को सामान्य किया जा सकता है।

लहसुन – रोज़ाना लहसुन की दो तीन कलियों के सेवन रक्त को सामान्य रखने में मदद मिलती है। ऐसा लहसुन में पाये जाने वाले एलिसिन के कारण होता है।

नींबू– प्रतिदिन सुबह एक गिलास गर्मपानी के साथ नींबू के रस को पीने से रक्तचाप को सामान्य रखा जा सकता है।

अलसी के बीज– अलसी के बीज शरीर से कोलेस्ट्रॉल को कम कर हृदय को स्वस्थ रखते है। जिससे शरीर में रक्तचाप सामान्य रहता है।

जैतून का तेल– जैतून के तेल से बने भोजन के सेवन से उच्च रक्तचाप में आराम मिलता है।

केला – रोज़ाना एक या दो केले खाने से भी आप रक्त चाप को नियंत्रित कर सकते हैं।

योग से करें रक्तचाप को नियंत्रित-

घरेलू नुस्खों के साथ-साथ यदि कुछ योग क्रियाओं को दैनिक जीवन में जोड़ लें तो आप रक्तचाप बढ़ने की समस्या से जिंदगी भर के लिए छुटकारा पा सकते हैं। ये योग आसन निम्न है –

  • सुखासन
  • योगी साँसे
  • भ्रामरी
  • जनुशीर्षासन
  • पश्चिमोत्तान आसन
  • पूर्वोत्तान आसन
  • शवासन
  • अर्ध-हलासन
  • सेतुबंधासन
  • पवनमुक्तासन के विभिन्न प्रकार(सिर उठाए बिना घुटनों को वृत्ताकार घुमाए)
  • पेट के बल लेटना
  • मकरासन में भ्रामरी प्राणायाम करना
  • शिशुआसन
  • सुप्तवज्रासन
  • पैरों को ताने और शवासन में लेटना
  • योग निद्रा

इन योग आसनों के प्रयोग से आप उच्चरक्त चाप को जल्द से जल्द नियंत्रित कर सकते हैं।

 

Our Score
Our Reader Score
[Total: 0 Average: 0]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Ajax LoaderPlease wait...

Subscribe For Latest Updates

Want to be notified when our article is published? Enter your email address and name below to be the first to know.