अगर आपको है ये आम लक्षण तो हो सकता है आपको कैंसर (Cancer), पढ़ के हिल जाएंगे

आज हम फिर आए है एक नये लेख के साथ – जिसमे हम बताएंगे की कैंसर यानी कर्क रोग (Cancer) के बारे में. कैसे होता है कैंसर. कैसे पहचान सकते है आप कैंसर को. क्या लक्षण होते है कैंसर के. कैंसर (कर्क रोग) दुनिया की सबसे जानलेवा बीमारियों में से एक है. कैंसर के कई प्रकार होते है जैसे ब्लड कैंसर, ब्लैडर कैंसर, ब्रैस्ट कैंसर इत्यादि. ये जानलेवा बिमारी हर साल तक़रीबन हज़ारो लाखो लोगो को मौत के मुह पे लाके छोड़ देती है. हम इस post के माध्यम से आप को डराना नहीं चाहते है बस केवल जागरूकता फैलाना है. अगर कैंसर की पहचान वक़्त रहते हो जाए तो इस आप बच सकते है :-

1.माउथ कैंसर (Mouth Cancer)

अगर आप तम्बाको वगरह बहुत खाते है तो आपको मुह का कैंसर होने के chances बहुत बड जाते है. इसमे आप के मुह में पहले छले आएँगे. फिर आपको गले में सुजन महसूस होगी खाना खाने या थूक निगलने में भी बहुत पीड़ा होगी

2.लंग कैंसर (Lung Cancer)

लंग यानी फेफड़ो कैंसर ज्यादातर उन्हें होता है जो अत्यधिक धुम्रपान करते है. इस कैंसर में मरीज़ को सांस लेने में दिक्कत होती है. इस का एक और लक्षण है खांसी में खून का बाहर आना

3.स्किन कैंसर (Skin Cancer)

स्किन कैंसर किसी को भी हो सकता है पर अधिकाँश केसेस में यह उन् लोगो में पाया जाता है जो धुप में बहुत रहते है. इसके लक्षण है स्किन पर छोटे छोटे गाँठ बन जाना, अपने आप मस्से निकलते रहना, त्वचा का रंग बदलना अचानक जैसे हल्का लाल रंग का हो जाना, बहुत खुजली होना इत्यादि.

eyogguroo

 4.ब्लड कैंसर / रक्त में कर्क रोग (Blood Cancer)

बाकी सभी कैंसर की तरह यह भी उतना ही खतरनाक होता है. इसके कुछ लक्षण इस प्रकार पहचाने जा सकते है – दिन भर कमजोरी महसूस करना, बिना कुछ करे भी थकान महसूस करना, सीने में दर्द महसूस होना ब्लड कैंसर के शुरूआती लक्षण हो सकते है.

5.दिमाग में कैंसर – ब्रेन कैंसर (Brain Cancer)

जी हाँ आपने सही पढ़ा – दिमाग में भी कैंसर होता है. सबसे भयानक बीमारियों में से एक दिमाग का कर्क रोग इसमे आदमी की हालत ऐसी हो जाती है की वो बस मरना चाहता है दर्द सहना मुश्किल हो जाता है. इसके शुरूआती लक्षण हो सकते है – सर दर्द रहना, उल्टियाँ आना, चीजों का धुंधला दिखना, चक्कर आना इत्यादि. अक्सर ब्रेन में tumor हो जाता है जिसके कारण ये दिक्कते आती है.

eyogguroo

कैंसर (Cancer) का इलाज

1.विटामिन सी चेलेशन

चेलेशन चिकित्सा शरीर से जहरीले धातुओं को हटाने के लिए रसायनों या प्राकृतिक यौगिकों का उपयोग करती है। शब्द “चीलेट” का अर्थ है कुछ को पकड़ना, जिसमें विषाक्त पदार्थों पर पकड़ने के लिए कैलेटिंग एजेंटों की क्षमता का वर्णन किया गया है।

2.लोबान आवश्यक तेल चिकित्सा

डॉक्टर बुडिग लोबान को आवश्यक तेल की सिफारिश करता है (विशेषकर जब यह मस्तिष्क ट्यूमर से लड़ने की बात आती है)। और अब लोहे के संभावित कैंसर से लड़ने की क्षमताओं को उजागर करने वाले अनुसंधान परीक्षण चिकित्सा पत्रिकाओं को भर रहे हैं।

3.सनशाइन और विटामिन डी 3

विज्ञान इस तथ्य का समर्थन करता है कि उच्च स्तर के हृदय को स्वस्थ, वसा-विलायक विटामिन और खनिज आपके शरीर को कैंसर से मुक्त रखने के लिए महत्वपूर्ण हैं। और हाल ही में, कैंसर की रोकथाम में वसा-घुलनशील विटामिन डी 3 नाटकों की भूमिका के बारे में काफी प्रगति हुई है।

4.हल्दी और कर्क्यूमिन

कैंसर कोशिकाओं पर प्रयोगशाला के कई अध्ययनों से पता चलता है कि कर्क्यूमिन में एंटीकैंसर प्रभाव होता है। ऐसा लगता है कि कैंसर की कोशिकाओं से लड़ने में और बढ़ने से ज्यादा रोका जा सकता है। यह स्तन कैंसर, आंत्र कैंसर, पेट कैंसर और त्वचा कैंसर की कोशिकाओं के खिलाफ सबसे प्रभावी प्रतीत होता है।

दोस्तों इन सब बातो के अलावा मेरी आपसे एक विनती है की अगर आप मदिरा का सेवन करते है तो कृपया कर दारु शराब जैसी चीज़े छोड़ दे. अपने लिए नहीं तो अपने परिवार वालो के लिए. सबसे ज्यादा कैंसर इस चीज़ की वजह से ही होती है. मेरी बस यह विनम्र निवेदन है की इस ज़हर से दूर् रहिए.

उम्मीद है आपको यह post पसंद आया होगा. आप हमारी वेबसाइट पर योग करना सीख सकते है – पुरुष बांझपन यानी male infertility के बारे मे ( पुरुषो में बांझपन के 3 मुख्य कारण – कैसे बढाए शुक्राणु 1 हफ्ते में ), अनुलोम विलोम( सीखे अनुलोम विलोम करना – जान के दांग रह जाएंगे इसके अद्भुत फायदे ) , कपालभाती ( क्या सच में होते है कपालभाती के ये लाभ? – पढ़िए और सीखिए कपालभाती ) . आप वजन कम करने ( जानिए : वजन कम करने (Weight Loss) के 5 सबसे आसान तरीके ) के बारे में भी पढ़ सकते है. स्वास्थ्य के बारे में और जानने के लिए हमारी वेबसाइट को जल्दी से बुकमार्क करे. अगर आप अपने दोस्तों व परिवार वालो की चिंता करते है तो यह आर्टिकल उन तक भी पहुचाए – शेयर करे दिल खोल के अपने फेसबुक, गूगल प्लस अकाउंट पर. तो ध्यान रखिये अपने आप का और अपने स्वास्थ्य का.

 

Our Score
Our Reader Score
[Total: 1 Average: 5]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Ajax LoaderPlease wait...

Subscribe For Latest Updates

Want to be notified when our article is published? Enter your email address and name below to be the first to know.