दांतों के दर्द और पीलेपन से छुटकारा दिलाती हैं ये 4 आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियां

चेहरे की खूबसूरती में अच्‍छी मुस्‍कान और अच्‍छी मुस्‍कान के लिए दांतों का मोतियों की तरह सफेद होना जरूरी होता

अब सर्दियों के मौसम की तैयारी करें – आयुर्वेदिक तरीके से

रक्तवाहिनियों में सिकुड़न (contraction in blood vessel) – सर्दियों के मौसम में रक्तवाहिकाएं (blood vessel)  शरीर की गर्मी को संरक्षित

आयुर्वेद (Ayurveda) के अनुसार-गुड़ (Jaggery) है उत्तम गुणों से भरपूर

ईख और गुड़ (Jaggery) का वर्णन आयुर्वेद (Ayurveda) में खूब आया है। ईख की खेती आदिकाल से होती आयी है। ईख

आयुर्वेद चिकित्सा (Ayurveda Therapy) की एक महत्वपूर्ण विधि – पंचकर्म

पंचकर्म शब्द से ही इसका अर्थ स्पष्ट है कि ये पांच प्रकार के विशेष कर्म है । ये शरीर के

आयुर्वेद के अनुसार रोगों को पहचानने के आठ तरीके -अष्ठविध रोग परीक्षा

आयुर्वेद के अनुसार रोगी की प्रकृति पहचान कर साध्यता व असाध्यता आदि जानने के लिए रोगों की आठ प्रकार से

आयुर्वेद (Ayurveda) के अनुसार विरूद्ध आहार (against diet) क्या होते है ? और कौन-2 से हैं ?

जिस तरह पौष्टिक और हितकारी (beneficial)  आहार का सेवन करने से स्वास्थ्य की रक्षा होती है उसी तरह अहितकारी (harmful)

Ajax LoaderPlease wait...

Subscribe For Latest Updates

Want to be notified when our article is published? Enter your email address and name below to be the first to know.