दांतों के दर्द और पीलेपन से छुटकारा दिलाती हैं ये 4 आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियां

चेहरे की खूबसूरती में अच्‍छी मुस्‍कान और अच्‍छी मुस्‍कान के लिए दांतों का मोतियों की तरह सफेद होना जरूरी होता है। अच्‍छी मुस्‍कान किसी को भी अपनी तरफ आसानी से आकर्षित करने के लिए काफी है। लेकिन केमिकल युक्‍त टूथपेस्‍ट, गलत खान-पान (ज्‍यादा मीठी चीजें खाना, ज्‍यादा चाय-कॉफी), और गुटखा आदि के इस्‍तेमाल से ना केवल दांतों में पीलापन आने लगता है बल्कि दांतों में दर्द और सड़न जैसी समस्‍याएं भी होने लगती है। और दांतों में पीलेपन के कारण चेहरे की खूबसूरती कम होने लगती है फिर तो आपका ठीक से हंस पाना भी मुश्किल हो जाता हैं। यहां तक कि इस समस्‍या के चलते  कुछ लोग तो धीरे-धीरे अपना आत्‍मविश्‍वास खोने लगते हैं जिससे वह दूसरों से खुल कर बात भी नहीं कर पाते हैं।

क्‍या दांतों के पीलेपन ने आपके चेहरे की खूबसूरती को भी कम कर दिया है? या दांतों में पीलेपन के कारण आपको शर्मिंदगी महसूस करते हैं? या दूसरों के समाने हंसने से कतराते हैं? या दांतों में दर्द के कारण बेहाल रहते हैं? तो आज के बाद आपको परेशान होने की जरूरत नहीं हैं क्‍योंकि आज हम आपके लिए लेकर आए हैं ऐसी 4 आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियां जिनका रेगुलर इस्‍तेमाल कर आप ना केवल दांतों के पीलेपन को दूर कर सकते हैं बल्कि दांतों में होने वाले दर्द से भी आसानी से बच सकते हैं। तो देर किस बात की आइए जानें।

दांतों के लिए आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियां ही क्‍यों?

पहले लोग दांत साफ करने के लिए टूथपेस्‍ट की जगह प्राकृतिक नीम और बबूल के दातुन का इस्‍तेमाल करते थे। दातुन से ना केवल दांत साफ रहते थे बल्कि आप दांतों और मुंह से जुडे रोगों से भी बचे रहते थे। लेकिन समय के साथ लोगों ने प्राकृतिक चीजों की जगह केमिकल युक्‍त चीजों का इस्‍तेमाल करना शुरू कर दिया। और बाजार में दांतों को साफ करने के तरह-तरह के टूथपेस्‍ट आने लगे। यह प्रोडक्‍ट्स दावा करते हैं कि इनके इस्‍तेमाल से दांत सफेद और सुंदर हो जाएगें लेकिन एक तो यह प्रोडक्‍ट्स महंगे और केमिकल युक्‍त होते हैं, जिससे कई तरह के साइड इफेक्‍ट देखने को मिलते हैं। दूसरा इनसे हमें मन मुताबिक रिजल्‍ट भी नहीं मिल पाता है। इसलिए हमें आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों को अपनाना चाहिए।

दांतों के‍ लिए वरदान है नीम

eyogguroo

नीम में मौजूद एंटी-बैक्‍टीरियल और एंटी-सेप्टिक गुणों के कारण इसे दांतों के लिए वरदान माना जाता हैं। नीम के दातुन से आप दांतों की हर समस्‍या का इलाज कर सकते है। पहले समय में तो लोग दांतों को साफ करने के लिए सिर्फ नीम का इस्‍तेमाल करते थे। आजकल भी आपको कई लोग सुबह के समय वॉक करते समय नीम का दातुन करते दिख जाएंगें।

नीम का दातुन रोजाना करने से ना केवल दांतों का पीलापन और दर्द दूर होता है बल्कि दांत मजबूत होते हैं। साथ ही नीम का दातुन माउथफ्रेशनर का काम भी करता है। इसे करने से मुंह की दुर्गंध दूर होती है। इसके अलावा दांतों में किसी भी रोग के होने की संभावना भी बहुत कम हो जाती है।

बबूल का जादू 

eyogguroo

बबूल की छाल, उसके पत्‍तों, फलियों को बराबर मात्रा लेकर इसका पेस्‍ट बना लें। इस पेस्‍ट को रोजाना अपने दांतो पर लगाने से दांतों की सभी समस्‍याओं को दूर किया जा सकता है। यानी कि दांतों में दर्द और पीलेपन को दूर करने के अलावा आप अपने दांतों को मजबूत बना सकते हैं। आप चाहे तो नीम की तरह बबूल के दातुन से भी दांतों को साफ कर सकते हैं। बबूल के दातुन को रोजाना करने से दांतों में किसी तरह का इंफेक्‍शन भी नहीं होता। इसके अलावा मुंह में छाले भी नहीं होते है।

औषधीय गुणों वाली तुलसी

eyogguroo

तुलसी को हमारे देश में पूजनीय माना जाता है। लेकिन इसका धार्मिक महत्‍व होने के साथ-साथ इसमें कई तरह के औषधीय गुण भी पाए जाते हैं। सर्दी-जुकाम आदि में तो आप सभी इसका इस्‍तेमाल करते ही हैं लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि तुलसी दांतों के लिए भी बहुत अच्‍छी होती है। हालांकि  इस बात की जानकारी मुझे भी नहीं थी।

अगर आप दांतों के पीलेपन से परेशान हैं तो तुलसी के पत्‍तों को अच्‍छे से धूप में सुखाकर इसका पाउडर बना लें। फिर इस पाउडर से अपने दांतों को अच्‍छे से साफ करें। इससे आपके दांतों में चमक आ जाएगी और वह मोतियों की तरह चमकने लगेंगे।

सरसों का तेल

eyogguroo

सरसों का तेल ना केवल भोजन का स्‍वाद बढ़ाता है बल्कि आपकी सेहत के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है। यह आपके शरीर के लिए बहुत ज्‍यादा उपयोगी और रामबाण माना जाता है। साथ ही दांतों के लिए भी किसी औषधि की तरह है।

मुझे याद है बचपन में जब भी दांतों से जुड़ी कोई भी समस्‍या होती थी तो मेरी मां मुझे सरसों के तेल में नमक मिला कर देती थी। और इस पेस्‍ट को दांतों पर लगाने से मेरी समस्‍या ठीक हो जाती थी। अब समझ में आया कि मैं ऐसा क्‍यों करता था। क्‍योंकि यह आयुर्वेदिक नुस्‍खा बेहद ही कारगर है। जी हां यह दांतों को साफ करने का बहुत ही पुराना नुस्‍खा है। अपने दांतों को हफ्ते में सिर्फ एक बार नमक और तेल से साफ करें। इसके लिए आप अपनी उंगली से मसूड़ों के आस-पास रगड़े और अगले 2-3 मिनट के लिए छोड़ दें। फिर गुनगुने पानी से कुल्‍ला कर लें। इससे आपके दांतों के आस-पास का ब्‍लड सर्कुलेशन बढ़ता है जिससे दर्द दूर होता है और धीरे-धीरे दांतों का पीलापन दूर हो जाता है।

तो देर किस बात की, अगर आप भी दांतों में दर्द या पीलेपन से परेशान हैं तो आज से ही इनमें से कोई एक आयुर्वेदिक नुस्‍खा ट्राई करें।

Our Score
Our Reader Score
[Total: 0 Average: 0]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Ajax LoaderPlease wait...

Subscribe For Latest Updates

Want to be notified when our article is published? Enter your email address and name below to be the first to know.