तन-मन और‍ रिश्‍ते में मधुरता लाती है ट्रेवलिंग

ऐसे कई चीजें हैं जैसे नए दोस्‍त, नए अनुभव और नई कहानियां जिनका फायदा केवल आप नई जगहों पर जाकर ही उठा सकते हैं। और तो आप जब आप नई जगहों की खोज करना शुरू करते हैं,तो आप वहां रहने वाले लोगों की संस्कृति,इतिहास और पृष्ठभूमि को बेहतर तरीके से समझ पाते हैं। इतना ही नहीं अध्‍ययन बताते हैं कि ट्रे‍वलिंग से आपके संपूर्ण स्‍वास्‍थ्‍य में सुधार होता है और आपकी रचनात्‍मकता भी बढ़ती है। इसलिए,आपको अपने दैनिक कार्यों,ऑफिस की  जिम्मेदारियों,व्यस्त कार्यक्रम और रोजाना के प्रेशर से समय निकालकर साल में कम से कम एक बार ट्रेवलिंग जरूर करनी चाहिए। एक खुले कार्यक्रम के साथ एक नए शहर में ट्रेवलिंग  की योजना बनाएं और जीवन को कई नए अवसरों के साथ पेश करें,जो आपका इंतजार कर रहे हैं।

जी हां ट्रेवलिंग करना लगभग सभी को पसंद होता है लेकिन फिर भी लोग जा नहीं पाते। कभी ऑफिस का काम,  तो कभी घर की परेशानियां की उलझन, तो कभी भविष्‍य की चिंता तो कभी सेहत में गड़बड़ी। यहां तक तो कई लोग ट्रेवलिंग पर इसलिए भी नहीं जाते क्‍योंकि वह इसे पैसों और समय की बर्बादी मानते हैं। लेकिन एक शोध के अनुसार ट्रेवलिंग से लोग शारीरिक और मानसिक रूप से स्‍वस्‍थ रहते हैं। साथ ही यह आपके रिलेशनशिप में भी मजबूती लाता है।

ट्रेवलिंग

आइए जानें कि आपको साल में कम से कम एक बार ट्रेवलिंग क्‍यों करना चाहिए?

आपको रखता है फिट

खुद को फिट रखने के लिए हम एक्‍सरसाइज या जिम में जाते हैं। लेकिन यह फायदा आपको ट्रेवलिंग से भी मिल सकता है। ट्रैवलिंग के दौरान भागदौड़, मौज-मस्‍ती और एक्विविटी से आपका शरीर चुस्‍त रहता है। एक रिसर्च के अनुसार जिन लोगों ने अपना ज्यादा टाइम ट्रेवलिंग में बिताया उनका बीएमआई और वजन में कमी पाई गई।

खुशी का एहसास

क्‍या आप जानते हैं कि ट्रेवलिंग का नाम सुनते ही आप खुशी के मारे झूमने लगते हैं। क्‍योंकि ट्रेवलिंग आपको खुशी का एहसास कराती है और आपको महसूस कराती है कि आपका हर पल कितना कीमती है। खुश रहना और जिंदगी में खुशी हमारे लाइफ का सबसे हसीन सपना है।

ट्रेवलिंग

सामाजिक और संचार कौशल में सुधार

ट्रे‍वलिंग के मुख्य लाभों में से एक,विशेषकर उन क्षेत्रों में जहां आपकी मूल भाषा का व्यापक रूप से उपयोग नहीं किया जाता है। यहां आपको सीखने को मिलता हैं कि अलग-अलग तरह के लोगों के साथ कैसे बातचीत करें? जी हां ट्रेवलिंग से सोचने का नजरिया बदलता है। नई-नई जगहों की सामाजिक आदतें,पंरपराओं को करीब से देखने को मिलती है। आपका ज्ञान बढ़ता है। नए लोगों से मिलने, नई परिस्थितियों के साथ तालमेल बनाने से कनेक्‍शन बढता है। इससे ब्रेन तेज होता है। मन रहता है शांत हमारे सभी की लाइफ में बहुत ज्‍यादा स्‍ट्रेस और तनाव है। ट्रेवलिंग हमें हमारे सामान्य दिनचर्या से अस्थायी रूप से डिस्कनेक्ट करने के लिए मजबूर करता है और यह उन लोगों और चीजों की सराहना करने में हमारी मदद करता है जो आपके आसपास हैं। एक प्रसिद्ध कहावत के अनुसार “हम तब तक उस चीज को जानते जब तक इसे खो नहीं देते हैं।”

बीमारियों से रखता है दूर

एक शोध के अनुसार जो लोग ट्रेवलिंग ज्‍यादा करते हैं, उनमें हार्ट अटैक या अन्‍य बीमारियों के होने की संभावना अन्‍य लोगों की तुलना में कम रहती है। ट्रेवलिंग से आप अलग-अलग तरह के वातावरण के संपर्क में आते है, जिससे आपमें एंटीबॉडीज का निर्माण होता है। इससे इम्‍यून सिस्‍टम मजबूत होता है। इसके अलावा हिल स्‍टेशन जाने से ब्‍लड प्रेशर एवं मोटापा कम होता है और साथ ही आपकी हड्डियां में भ्‍ी मजबूती आती है।

दिनचर्या में होता है सुधार

एक रिसर्च के अनुसार, व्यक्ति बेहतर नींद केवल ट्रेवल के दौरान हीं नही लेता है  बल्कि बाद में भी उसे अच्‍छी नींद आती है। इस रिसर्च में शामिल लोगों के हाथों पर एक उपकरण बांधा गया जिसने उनकी नींद के समय व क्‍वालिटी  को ट्रिप जाने से पहले,  दौरान व बाद में जांचा गया। और पाया कि जिन लोगों ने ट्रेवलिंग के दौरान नॉर्मल से एक घंटा ज्‍यादा नींद ली उन्‍होंने घर जाकर भी 20 मिनट ज्‍यादा आराम किया।

ट्रेवलिंग

धैर्य सीखता है

ट्रेवलिंग में बहुत इंतजार करना शामिल है। आपको फ्लाइट और रेस्‍तरां की लाइनों में इंतजार करना पड़ता है। इन परिस्थितियों का सामना करने और इन निराशाजनक स्थितियों में कैसे शांत करना है, यह सभी चीजें सीखने को मिलता है। जिसे आपके अंदर धैर्य की भावना आती है।

पॉजिटिव होता है नजरिया

अगर जिंदगी के प्रति आपकी सोच नकारात्‍मक है तो घूमने-फिरने से आपकी सोच बदल सकती है। और देश-दुनिया को देखने का आपका नजरिया पॉजिटिव हो सकता है।

बढ़ता है आत्‍मविश्‍वास

ट्रेवलिंग के दौरान आप ऐसी जगह पर जाते हैं, जहां आप किसी को नहीं जानते है। इससे आपका आत्‍मविश्‍वास बढ़ता है। आपमें बाधाओं से निपटने की क्षमता बढ़ती है जो आपको आश्‍वस्‍त व्यक्ति बना देगा और आपको एक व्यक्ति के रूप में विकसित करने में सहायता मिलती है।   लाइफटाइम के लिए यादें बनती हैअगर आप अपने मित्रों या परिवार के सदस्‍यों के साथ ट्रेवल करते हैं तो ट्रेवलिंग आपको मजबूत बंधनों का निर्माण और यादों को सजोकर रखने में मदद करती है। सोशल मीडिया में फोटो एल्बम या फोटो शेयर करके आप जीवन भर की यादों को बचा सकते हैं। खूब मज़े करते हैं आप चाहे आप जवां हो या बूढ़े या नौकरीपेशा, आपके अंदर का बच्‍चा भी मजा करना चाहता है। जब आप ट्रेवल करते हैं तो आप परवाह नहीं करते कि आप क्या कर रहे हैं आप पूरी तरह से फ्री होते हैं।

तो आप ट्रेवलिंग पर कब जा रहे हैं??

Our Score
Our Reader Score
[Total: 1 Average: 5]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Ajax LoaderPlease wait...

Subscribe For Latest Updates

Want to be notified when our article is published? Enter your email address and name below to be the first to know.